पुरे भारत में रेलवे ट्रेक का जाल बिछा हुआ है । हम यात्रा करते हैं तो कितने स्टेशन ऐसे भी यात्रा के दौरान देखने को मिलते हैं जिनका नाम हमें अटपटा सा लगता है । लेकिन आज बात करने वाले हैं भारत के  ऐसे फनी स्टेशन के बारे में जिनका नाम सुनकर आप अपनी हंसी नहीं रोक पाएंगे ।

बीते कुछ सालों में भारतीय रेलवे ने तेजी से तरक्की की है. देश की रेलवे लाइन हर रोज लाखों लोगों को एक जगह से दूसरी जगह ले जाती हैं. इसी बीच सफर के दौरान आपने कई रेलवे स्टेशन भी देखे होंगे और उन पर टंगे हुए बोर्ड के नाम पढ़े होंगे.

इनमे से कुछ नाम इतने अजीबो गरीब होते हैं.जिन्हें पढते ही राहगीरों की हंसी छूट जाती हैं. आज हम आपको कुछ इसी तरह के अनोखे रेलवे स्टेशन के नाम बताने जा रहे हैं. जिन्हें सुनने के बाद आप ठहाके मारकर हंसने तगेंगे ।

‘साली’ रेलवे स्टेशन
पहले बात करते हैं ‘साली‘ रेलवे स्टेशन के बारे में, राजस्थान की राजधानी जयपुर डिविजन के अंतर्गत एक ऐसा भी स्टेशन आता है जिसका नाम साली रेलवे स्टेशन है। अपने नाम की वजह से यह रेलवे स्टेशन काफी फेमस हो गया है।

बाप रेलवे स्टेशन
राजस्थान के जोधपुर के पास ‘बाप‘ रेलवे स्टेशन पड़ता है। ये तो रिस्तो का गजब खेल रेलवे के द्वारा खेला जा रहा है । पहले साली फिर बीबी और अब बाप । यह रेलवे स्टेशन भारतीय रेल के उत्तर पश्चिमी रेलवे जोन के अंतर्गत आता है जो अपने नाम के लिए काफी चर्चा में है।

काला बकरा रेलवे स्टेशन
यह स्टेशन जालंधर के गांव में है और यह अपने नाम के लिए काफी चर्चा में रहता है। इतना ही नहीं बल्कि इस गांव के भारतीय सैनिक गुरबचन सिंह भी काफी प्रसिद्ध है। उन्हें अंग्रेजों द्वारा सम्मानित किया गया था।

दारू रेलवे स्टेशन झारखण्ड
दारु के शौकीन लोगों के लिए यह नाम काफी अच्छा लग सकता है। हालांकि इस स्टेशन का दारू या शराब से कोई लेना देना नहीं है लेकिन झारखंड हजारीबाग जिले में यह दारू नाम का स्टेशन काफी सुर्खियों में है।

बीबीनगर रेलवे स्टेशन
अब साली की बात हुई है तो कुछ लोग सोच रहे होंगे क्या बीबी के नाम पर भी कोई रेलवे स्टेशन होगा क्या? जी बिलकुल, बीवी नगर नाम का यह रेलवे स्टेशन तेलंगाना के भवानीगढ़ जिले में आता है। इस नाम को पढ़ते ही लोगों को जरूर अपनी बीवी की याद आने लगती होंगी और साथ-साथ हंसी भी छूट जाती है।

दीवाना रेलवे स्टेशन
दीवाना रेलवे स्टेशन हरियाणा के पानीपत में स्थित है। वैसे तो यह बहुत छोटा सा स्टेशन है लेकिन अपने नाम के कारण इसने चारों और दीवानगी बढ़ा रखी है और यह काफी चर्चा में रहता है। कई लोग तो यहाँ तक कहते हैं की यहाँ के लोगों के खून में ही दीवानगी है ।

बिल्ली रेलवे स्टेशन

सूअर के बाद बरी आती है बिल्ली की। उत्तर प्रदेश के सोनभद्र जिले में धनबाद डिवीजन के अंतर्गत बिल्ली स्टेशन आता है। यह भी आपने नाम के वजह से लोगो में काफी प्रसिद्द है

will show on all devices -->